Netarhat Jharkhand | Sadni Ghagh waterfall : नेतरहाट की प्राकृतिक सुंदरता

झारखण्ड राज्य में स्थित “Netarhat Jharkhand | Sadni Ghagh waterfall : नेतरहाट की प्राकृतिक सुंदरता  एक सुंदर प्राकृतिक स्वर्ग जैसा नजारा  है जिसे लोग दूर दूर से देखने आते हैं यह एक पर्वतीय इलाका है जिस वजह से पर्यटन स्थल के रूप में लोकप्रिय है और यहां पर वन्यजीव संपदा के कुछ पहाड़ों की चोटी जैसे साल के पेड़ पाइन पेड़ नाशपाती बागान नेतरहाट लेक और बॉक्साइट का खदान आपको इस इलाके में देखने को मिलता है झारखंड के “पाइन वैली नेतरहाट” को झारखंड का रानी भी कहते हैं

यह छोटा नागपुर पठार पर आता है और राजधानी रांची से 158 किलोमीटर उत्तर पश्चिम में स्थित सबसे ऊंचे पहाड़ नेतरहाट Netarhat पर स्थित है घाटी में आपको लंबे-लंबे साल के पेड़ दिखाई देता है  झारखंड के सबसे खतरनाक घाटी के नाम से नेतरहाट घाटी Netarhat ghati को जानते हैं यहां पर सूर्योदय एवं सूर्यास्त का नजारा भी देख सकते हैं साथ ही छोटे बड़े वाटरफॉल भी मौजुद हैं

नेतरहाट का नाम कैसे पड़ा Netarhat ka name kaise pada 

झारखंड के लातेहार जिले में स्थित नेतरहाट जिसको पहले स्थानीय लोग”नेतुर हाट कहा करते थे, ऐसा इसलिए की पहले यहां बांस का बहुत बड़ा जंगल था जिसे स्थानीय लोग नेतूर कहते थे इसी के नाम पर धीरे-धीरे बदलाव के साथ इसका नाम बदलकर नेतरहाट कर दिया

Netarhat को Pine valley क्यों कहा जाता है

ठंडी स्थल में  पाए जाने वाला पाइन ट्री जो बहुत ही खूबसूरत कौर आकर्षक लगता है वह मुख्यतः ठंडी जगह में पाया जाता है जैसे हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड जम्मू कश्मीर दार्जिलिंग जैसे क्षेत्रों में बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है, इसी तरह झारखंड के नेतरहाट में भी Pine Tree सर्वाधिक पाया जाता है

Hil Station क्यों कहते  हैं Pine Valley Netarhat को 

हिल स्टेशन का नाम से जानने वाले नेतरहाट झारखंड में सबसे फेमस होने का दर्जा प्राप्त है झारखंड का रानी नहीं बल्कि Jharkhand’s Pine Valley Netarhat: (एक सुंदर प्राकृतिक स्वर्ग जैसा नजारा)  एवं झारखंड का मलिका भी कहा जाता है

प्राकृतिक सौंदर्य तो मानो ईश्वर ने नेतरहाट को गॉड गिफ्ट किया हुआ है शांत वातावरण और दूर शहरों से घने जंगलों  के  बीचो-बीच कल-कल यहां के जलप्रपात और ठंडे के दिनों में यहां की सूर्योदय और सूर्यास्त का नजारा आपको बार-बार इस हिल स्टेशन की ओर आकर्षित करती है  बस तू तो देखा जाए तो झारखंड की रानी नेतरहाट अपनी और पर्यटकों को हमेशा आकर्षित करती है और लोग हर वर्ष लाखों की संख्या में इस हिल स्टेशन में ट्रैवल करने आते हैं

Netarhat Jharkhand’s Pine Valley Netarhat: (नेतरहाट एक सुंदर प्राकृतिक स्वर्ग जैसा नजारा)

कुछ महत्वपूर्ण तथ्य 

  • प्रकृति सौंदर्य एवं चारों तरफ जंगलों के बीचो बीच नेतरहाट हिल स्टेशन की प्राकृतिक सौंदर्य का दीदार करना सब कोई चाहता  है झारखंड ही नहीं बल्कि झारखंड के बाहर से भी लोग झारखंड के नेतरहाट  को देखने के लिए आते हैं लंबे-लंबे साल के पेड़ पाइन का बृक्ष ऊंचे ऊंचे पेड़ और ठंडा स्थल होने का गौरव भी नेतरहाट को प्राप्त है इस वजह से लोग यहां यात्रा करने आया करते हैं |
  • गुरुकुल शिक्षा पर आधारित आध्यात्मिक आवासीय विद्यालय झारखंड में एक ऐसा स्कूल  है  जहां आज भी  गुरुकुल शिक्षा पद्धति पर आधारित अध्यात्मिक एवं अनुशासन का एक उच्च स्तरीय शिक्षा देखने को मिलता है  नेतरहाट आवासीय विद्यालय में गुरुकुल शिक्षा की तर्ज पर आज भी वहां पढ़ाई लिखाई होती है और वहां से पढ़कर विद्यार्थी आईपीएस आईएएस और  डॉक्टर ही बनते हैं
  • बॉक्साइट खदान खनिज संपदा से परिपूर्ण झारखंड भारत में सबसे ऊपर स्थान रखता है झारखंड में विभिन्न प्रकार के खनिज संपदा हर जिले में पाया जाता है उसी में से बॉक्साइट खदान भी एक खनिज संपदा है जो नेतरहाट के इलाके में बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है इसकी वजह से नेतरहाट के सुगम इलाके आपको वहां की मिट्टी और वहां के घर का बनावट लाल मिट्टी या पत्थर से दिखाई देती है जैसे ही आप नेतरहाट के सुगम वादियों में प्रवेश करते हैं आपको पाठ क्षेत्र लाल मिट्टी के घर बने जैसे दिखाई देते हैं

नेतरहाट (Netarhat ) के मुख्य आकर्षण का केंद्र

1. सनराइज प्वाइंट सनराइज प्वाइंट
2. सनसेट पॉइंट सनसेट पॉइंट
3. कोयल व्यूप्वाइंट
4. Lower ghagra jalprpat
5. अप्पर घाघरी जलप्रपात
6. Mangolia point
7. नेतरहाट आवासीय विद्यालय
8. Nashpati Bagan
9. Pine tree Bagan
10. लोध फॉल जलप्रपात
11. नेतरहाट घाटी

1.सनराइज प्वाइंट (Sunrise Point): नेतरहाट अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए प्रसिद्ध तो है ही परंतु नेतरहाट जिस चीज के लिए सबसे अधिक प्रसिद्ध है वह है सनराइज प्वाइंट यानी उगते हुए सूरज को देखना यहां से उसका नजारा भव्य और बहुत ही रोमांचकारी लगता है इस वजह से लोग यहां पर आते हैं और उगते हुए सूरज यानी कि सनराइज का आनंद लेते हैं जिस वजह से इसे एक सनराइज प्वाइंट भी कहा जाता है

2.सूर्यास्त बिंदु (Sunset Point ): जिस तरह सनराइज प्वाइंट का आनंद लेते हैं ठीक उसी प्रकार शाम के समय यहां सनसेट पॉइंट जो मंगोलिया पॉइंट के पास में है वहां से शाम का डूबते हुए सूरज का नजारा देखने लायक होता है शाम होते ही जब सूरज ढलने को आता है तो चारों तरफ अंधेरा छा जाता है और सूर्य पहाड़ों के मध्य होकर छिप जाता है जो कि उसका दृश्य एक अलग छाप दिखने का प्रयास करता है जिसे सनसेट पॉइंट के नाम से जानते हैं

3.कोयल व्यूप्वाइंट  (Koyal View Point) : वैसे तो कोयल व्यू प्वाइंट सनराइज प्वाइंट का ही एक भाग है परंतु कोयल व्यूप्वाइंट में आपको पाइन ट्री का भगवान एवं कोयल ब्लूप्वाइंट से आप कोयल नदी का ब्लू साथ ही सनराइज का बेहतरीन नजारा यहां से आप खुले खुले देख सकते हैं पहले कोयल व्यूप्वाइंट उतना अधिक खास नहीं था परंतु वर्तमान में कोयल पॉइंट नेतरहाट का नामी कोयल व्यूप्वाइंट हो गया है

4.निचली  घाघरी जलप्रपात (Lowar Ghaghri Waterfall): नेतरहाट में स्थित लोअर घाघरी जलप्रपात छोटा से जलप्रपात है जिसमें लोग पिकनिक मनाने जाते हैं जब भी लोग नेतरहाट आते हैं तो लोअर घाघरी जलप्रपात जरूर जाते हैं और छोटे-मोटे पिकनिक इंजॉय करके आते हैं

5.उपरी  घाघरी जलप्रपात  (Upar Ghaghri Waterfall): लोअर घाघरी जलप्रपात का ही एक भाग अप्पर घाघरी जलप्रपात है जो उसका अंग है और इस जलप्रपात में भी लोग छुट्टियों में आनंद एवं पिकनिक मनाने आते हैं

6.मंगोलिया पॉइंट (Mangolia Point): इस पॉइंट की एक अपनी कहानी है कहा जाता है कि अंग्रेजों के जमाने में अंग्रेजी शासक जनरल डायर की बेटी यहां का एक चरवाहा से प्रेम करती थी और हर शाम इस मंगोलिया पॉइंट पर इस चौराहे के साथ बैठकर उसके बांसुरी के धुन में मोहित हो जाती थी एक दिन जब अनु जी शासक जनरल डायर को पता चला कि उसकी बेटी यहां के चरवाहे के साथ प्रेम प्रसंग में मगन है

तब उसने उस चरवाहे को मरवा कर इसी मंगोलिया पॉइंट में फेंक दिया जब जनरल डायर की बेटी को पता चला कि मेरे प्रेमी को मेरे पिताजी के द्वारा हत्या कर दिया गया है तब उससे बर्दाश्त नहीं हुआ और वह अपने घोड़े के साथ उसी मंगोलिया पॉइंट में कूदकर जान दे दी तब से इस पॉइंट को मंगोलिया पॉइंट कहा जाने लगा और यह एक सूर्यास्त का अच्छा व्यूप्वाइंट भी माना जाता है

नेतरहाट आवासीय विद्यालय गुरुकुल के तर्ज पर आज भी नेतरहाट आवासीय विद्यालय में विद्यार्थी को शिक्षा दिया जाता है उच्च दर्जे का अनुशासन एवं रहन सहन इस विद्यालय को एक अलग पहचान दिया देती यहां से पढ़े लिखे हर विद्यार्थी कोई डॉक्टर कोई इंजीनियर आईएएस आईपीएस बन कर निकलते हैं इसलिए झारखंड में नेतरहाट विद्यालय टॉप रैंकिंग में सबसे आगे आता है

7.नाशपाती बागान (Naspati Bagan) : यदि आप नेतरहाट Netarhatआए हैं तो आपको एक बार नस्पति बागान जरूर घूमना चाहिए नाशपाती एक ऐसा फल है जो ठंडे स्थल में पाया जाता है और वह ठंडे की सीजन में आपको मिलता है इस वजह से नेतरहाट में नाशपाती ठंडी के मौसम में आपको यहां भारी मात्रा में देखने को मिलता है क्योंकि यहां पर आज पति का बागान बहुत अधिक है
8.चीड का पेड़ (Pine Tree) :ठंडी स्थल होने की वजह से यहां पर पाइन ट्री का भी बोलता देखने को मिलती है इस वजह से नेतरहाट Netarhatको पाइन वैली भी कहते हैं वैसे हर ठंडा स्थल पर आपको पाइन ट्री देखने को मिलता है इस वजह से झारखंड के नेतरहाट में भी पाइन ट्री आपको देखने को मिलता है इसके बावजूद झारखंड में और कहीं भी पैंट्री आपको देखने को नहीं मिलेगा9.लोध फॉल (Lodh Fall):झारखंड के सबसे ऊंचा जलप्रपात कहे जाने वाले लोग फूल नेतरहाट Netarhat से 45 किलोमीटर उत्तर पश्चिम में स्थित महुआडांड़ प्रखंड में स्थित है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती रहती है झारखंड का एकमात्र ऐसा फूल जो सबसे ऊंचाई से गिरती है

10.नेतरहाट घाटी (Netarhat valley) : नेतरहाट प्रवेश करते ही आपको सबसे पहले नेतरहाट की घाटी से होकर गुजरना पड़ता है कि खामोर घुमावदार रोड और घने जंगलों के बीचो बीच इस तरह का घाटी एक अलग एक्सपीरियंस देता है उसके बाद ही आप नेतरहाट की सुगम वादियों यानी कि पाठ के इलाकों में प्रवेश करते हैं घाटी लगभग 8 किलोमीटर के रेडियस में फैला हुआ है इसके बाद आप 10 किलोमीटर नेतरहाट को जाते हैं

11.Sadni waterfall :सदनी फॉल नेतरहाट में ही स्थित है पहले इसे नही जानते  थे परन्तु आज कल के समय में डिजिटल समय में लोग hedden प्लेस ढूढने में बहुत आगे हैं sadni फॉल जंगल में बीचो बीच है काफी रोमांचित जगह और ऑफ रोडिंग है यदि आप ट्रेकिंग का मजा लेना चाहते हैं तो sadni फॉल आपके लिए है चूँकि अभी इस फॉल के बारे बहुत कम को पता है इसलिए लोग इस जगह कम जाते हैं

इसे भी पढ़े :-नेतरहाट Pine Valley Netarhat

पहाड़ों का मल्लिका नेतरहाट क्यों प्रसिद्ध है Why is Netarhat famous for the queen of mountains

बरसात के दिनों में नेतरहाट का नजारा काफी हरा भरा हो जाता है 
  •  बरसात में नेतरहाट पाइन  घाटी (Netarhat  Pine Valley ) 

NETARHAT में  कितने होटल हैं जिसमे आप रात गुजार सकतें हैं 

  • होटल प्रभात विहार (Hotal Prabhat vihar)
  • होटल पाइन वैली (Hotal Pine Valley)
  • होटल रॉयल रेसेडेसी (Hotal Royal Resedency)
  • होटल सन साइन (Hotal Sunsine)
  • होटल ग्रीन प्लेस (Hotal Green Place)
  • लेक व्यू प्लेस (Lake View Place)
  • होटल रवि एंड ऋषि (Hotal Ravi&Rishi)
  • होटल पैराडाइस (Hotal Pairadice)
  • होटल प्रकश  (Hotal Prakash)
  • मल्लिका होटल नेतरहाट (Mallika Hotal Netarhat)
  • हिल्स क्वीन नेतरहाट (Hils Queen Netarhat)

FQA?

नेतरहाट जाने के लिए सबसे अच्छा महीना कौन सा है?(Which is the best month to visit Netarhat?

यदि आप नेतरहाट घूमने का प्लान कर रहे हैं तो आपको दिसंबर से फरवरी के महीनों में आपको नेतरहाट जाना चाहिए उस समय नेतरहाट का असली प्राकृतिक सौन्दर्य देखने को मिलेगा

नेतरहाट क्यों प्रसिद्ध है ?(Why Netarhat is famous)

नेतरहाट सूर्योदय एवं सूर्यास्त के लिए प्रसिद्ध है
ट्रेन के द्वारा नेतरहाट से रांची कितनी दूर है ? (How far is Ranchi to Netarhat by train?)

यदि आप ट्रेन से नेतरहाट को आना चाहते हैं तो यह संभव नहीं है क्योंकि ट्रेन का कोई भी लाइन नेतरहाट से जुड़ा हुआ नहीं यदि आप ट्रेन से आते हैं तो आपको सबसे पहले राजधानी रांची रेलवे स्टेशन में उतरना होगा उसके बाद वहां से आपको बस पकड़कर नेतरहाट आना होगा नेतरहाट से नजदीकी रेलवे स्टेशन देखा जाए तो लोहरदगा रेलवे स्टेशन है जहां से भी आप आसानी से आ सकते हैं
झारखंड में सबसे ठंडा स्थान कौनसा है ?(Which is the coldest place in Jharkhand?)

झारखंड में सबसे ठंडा स्थान होने का गौरव झारखंड का रानी नेतरहाट को प्राप्त है जो ठंडी के दिनों में माइनस में चली जाती है

गुमला से नेतरहाट की दूरी कितनी है ? (What is the distance between Gumla to Netarhat)?

(गुमला से नेतरहाट की दूरी लगभग 81 किलोमीटर है
झारखंड की रानी किसे कहते हैं ? झारखंड की रानी नेतरहाट को कहते हैं

नेतरहाट में प्रसिद्ध होटल कोंन सा है ?

नेतरहाट में होटल प्रभात सबसे प्रमुख और पुराना है HOTAL  है और HOTAL PINE VALLEY NETAHAT  भी काफी चर्चित होटल है |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top