Hundru waterfall from ranchi || हुंडरू का अर्थ क्या है | हुन्डरु जलप्रपात रांची

hundru waterfall -झारखंड के रांची जिले जिसे झरनों का शहर भी कहा जाता है इसी शहर के पास में एक जलप्रपात  है जिसका नाम हुंडरू जलप्रपात hundru waterfall  कहते हैं  रांची से इसकी दुरी Hundru waterfall from ranchi  से 45 किलोमीटर है | झारखंड की ऊंचाई वाले वॉटरफॉल में हुंडरू जलप्रपात का भी नाम सबसे पहले आता है जी हां 322 फीट ऊंचाई से गिरने के साथ-साथ 98 मीटर ऊंचा यह  भारत का 34 व सबसे बड़ा ऊंचा जलप्रपात है और jharkahnd का दूसरा सबसे बड़ा जलप्रपात है रांची  से सटे 32 किलोमीटर पुरलिया मार्ग पर hundru  जलप्रपात स्वर्णरेखा नदी पर स्थित  है लोग

इस जगह पर पिकनिक के लिए हमेशा आया  करते हैं साथ ही  नए साल में लोग भर भर कर इस जगह पर जाते हैं और नए साल इंजॉय करते हैं आज इस  लेख में आप पढ़ेंगे हुंडरू फॉल के बारे में तो चलिए विस्तार पूर्वक जानते हैं Hundru waterfalls के बारे में

हुंडरू जलप्रपात Hundru Waterfall नाम क्यों पड़ा हुंडरू का अर्थ क्या है

वैसे तो हुंडरू जलप्रपात hundru waterfall स्वर्णरेखा नदी पर अवस्थित है लेकिन बात आती है कि हुंडरू जलप्रपात का नामकरण कैसे हुआ आखिर हुंडरू जलप्रपात इस वॉटरफॉल को क्यों कहते हैं हुंडरू का अर्थ क्या होता है इस सवाल पर जब स्थानीय लोग से जानकारी मिला  तब पता चला कि जब अंग्रेजी शासन काल था तब एक अंग्रेज जिसका नाम “हुंदुर”था इस नदी पर इस वॉटरफॉल के समीप आकर हीरा या सोने की तलाश कर रहा था तो किसी कारणवश उसका पैर फिसलकर नीचे खाई में गिर जाता है तब से इसका नाम जो है “हुंदूर fail” कहा जाने लगा और समय बीतने के साथ इसका वर्तमान नाम हुंडरू फॉल hundru waterfalls हो गया ।

hundru waterfall on which river

हुंडरू जलप्रपात -रांची राजधानी रांची से सटे 32 किलोमीटर की दूरी पर पुरलिया मार्ग पर हुंडरू  जलप्रपात जो स्वर्णरेखा नदी पर बनाई गई है जिसकी ऊंचाई 322 फीट एवं यह भारत का 34 व सबसे बड़ा ऊंचा जलप्रपात है बेहद ही खूबसूरत एवं मनमोहक लगने वाला है यह वॉटरफॉल दूर से ही लोगों को अपनी और आकर्षित करती है इसकी आवाज 5 किलोमीटर तक सुनाई देती है ऊँचे चटानो  से गिरने के कारण इसके आवाज दूर तक  सुनाई देती है जब आप हुंडरू जलप्रपात आते हैं तो इसके तलहटी में जाने के लिए आपको 750 सीढ़ियां उतरने पड़ती है और 750 सीढ़ियां चढ़कर ऊपर आने पड़ती है क्योंकि जब

आप 750 सीढ़ियां उतर कर नीचे जाते हैं तब आपको वह दृश्य देखने को मिलता है जो कि वह ऊंचाई से hundru waterfall वॉटरफॉल गिरता है घने जंगलों के बीचो-बीच एवं शांत वातावरण में बसाया जलप्रपात लोगों को अपनी और मोहित करता है और लोग अक्सर इस जगह पर वीकेंड छुट्टी या पिकनिक या किसी विशेष प्रोग्राम के लिए इस वॉटरफॉल को देखने जाया करते हैं यह वॉटरफॉल रांची पुरलिया मार्ग पर स्थित है एवं यह झारखंड का दूसरा सबसे बड़ा वॉटरफॉल है और यह स्वर्णरेखा  नदी पर स्थित है इसी से सिकीदारी में पन बिजली का उत्पादन भी किया जाता है

Hundru waterfall क्यों प्रसिद्ध है

  • झारखंड का दूसरा सबसे बड़ा एवं ऊंचा वॉटरफॉल होने के साथ-साथ यह सोने रेखा नदी पर स्थित है और इसी से सीखी दारी में पन बिजली यानी कि बिजली का उत्पादन किया जाता है
  • Hundru जलप्रपात की धारा 322 फीट ऊंचाई से गिरने के साथ-साथ या झारखंड का दूसरा सबसे बड़ा hundru waterfall  वॉटरफॉल है
  • बरसात के दिनों में इस वॉटरफॉल की धारा काफी अधिक मोटी हो जाती है जिससे वहां की खूबसूरती देखते बनती है लोग बरसात के दिन में भी काफी अधिक संख्या में इसे देखने के लिए जाते हैं क्योंकि संघा जंगल के बीचो-बीच होने के चलते बरसात के दिनों में बरसात के पानी से और अधिक इस वॉटरफॉल की जो परत है वह चौड़ी हो जाती है और जब ऊंचाई से गिरती है तो और मनमोहक लगती है

इसे भी पढ़े -Hirni falls || Hidden Place Hirni Watarfalls | हिरनी जलप्रपात

 

जलप्रपात में बरतने वाली सावधानियां

जब आप किसी भी वॉटरफॉल्स जलप्रपात में अपने परिवार स्वयं यानी किसी के साथ जाते हैं तो सबसे बड़ी  बात होती है उस जलप्रपात में बरतने वाली सावधानी यदि आप हुंडरू जलप्रपात में पहुंच गए हैं तो सबसे पहले आप अपने परिवार के सदस्यों का ध्यान रखेंगे बच्चों को खासकर ऐसे स्थानों से दूर रखें जहां फिसलने है गड्ढे हैं जहां पानी ऊंचे से गिर रही है साथ ही ऐसे स्थानों से आपको दूरी बनाकर रखें जिससे किसी अप्रिय घटना होने की संभावना हो सके

यदि आप पिकनिक का प्लान कर रहे हैं तो आपको झरने से दूर जहां पानी का रफ़्तार  कम हो गड्ढे कम हो, चिकने पत्थर से दूर होना चाहिए क्योंकि आजकल के समय में अक्सर लोग फोटोग्राफी सेल्फी, के चक्कर में गलती हो जाती है और इस तरह की घटना का शिकार हो जाते हैं तो इसलिए सबसे पहले सावधानी बरतनी जरूरी है तभी आपकी घूमने की जो ख्वाहिश  सफल हो पाएगी इसलिए जरूरी है कि आप ऐसे जलप्रपात की जगह में जाएं लेकिन सावधानी जरूर करते हैं

हुंडरू जलप्रपात आप कैसे आ सकते हैं  how to reach hundru falls from ranchi

राजधानी रांची से 32 किलोमीटर का दूरी पर स्थित रांची पुलिया मार्ग पर स्थित हुंडरू फॉल  12 महीना स्वागत करती है क्योंकि यह स्वर्ण रेखा नदी पर स्थित है और ऊंचाई से गिरने के साथ-साथ या झारखंड का दूसरा सबसे बड़ा वॉटरफॉल है इस वॉटरफॉल पर आने के लिए आपको राजधानी रांची से बाय बस स्वयं के व्यक्तिगत गाड़ी या फिर बाइक से आप आसानी से इस जगह पर आ सकते हैं

परिवहन के साधन

  • बस से कैसे पहुचे -यदि अब झारखंड के अन्य हिस्से से आते हैं या फिर झारखंड के बाहर राज्य से आते हैं तो आपको सबसे पहले आईटीआई बस स्टैंड रांची या खादगढ़ा बस स्टैंड रांची में उतरना होगा उसके बाद वहां से आप बस के माध्यम से सीधे कुंदरु फूल के लिए जा सकते हैं आपको वहां से लगभग 80 रुपए के किराया लग जाता है
  • रेलगाड़ी से कैसे पहुचें – जब आप रेलगाड़ी से पंढरपुर के लिए आते हैं तो सबसे पहले आपको राजधानी रांची रेलवे स्टेशन में उतरना होता है राजधानी रेलवे स्टेशन से उतरकर आप वहां से ऑटो करके सीधे बस स्टैंड जा सकते हैं और फिर वहां से बस पड़कर होंड्रफों को जा सकते हैं और नहीं तो आप वहां से ऑटो को भी बुक कर सकते हैं या छोटी गाड़ी बुक करके जा सकते हैं वैसे लंबी दूरी है इसलिए ऑटो करना उचित नहीं है आप छोटा गाड़ी की बुक कर सकते हैं
  • व्यक्तिगत गाड़ी या बाइक से कैसे पहुचे -सबसे सुविधा एवं सबसे सुविधाजनक खुद की गाड़ी और बाइक मानी जाती है क्योंकि इसमें आप अपने मनमर्जी के हिसाब से जाते हैं और मनोरंजन करके आते हैं क्योंकि इसमें आप अपने समय के मुताबिक समय से जाते हैं और समय से आ जाते हैं इसमें किसी भी बंदिश नहीं होती है तो आप झारखंड के किसी भी हिस्से से हो पर्सनल गाड़ी या बाइक से वंडरफुल आसानी से जा सकते हैं
FAQ
हुंडरू जलप्रपात की ऊंचाई कितनी है ?

हुंडरू जलप्रपात hundru waterfall  की ऊंचाई लगभग 322 फीट ऊंची है

झारखंड का दूसरा सबसे बड़ा वॉटरफॉल कौन सा है?

झारखंड का दूसरा सबसे बड़ा वॉटरफॉल हुंदरू वॉटरफॉल है जो कि रांची जिला में स्थित है

हुंडरू जलप्रपात कौन सी नदी पर स्थित है?

हुंडरू जलप्रपात स्वर्ण रेखा नदी पर स्थित है

हुंडरू जलप्रपात hundru waterfall  की विशेषता क्या है?

हुंडरू जलप्रपात की विशेषता यह है कि यह वॉटरफॉल 322 फीट ऊंचाई से गिरता है और यह भारत का 24 व सबसे बड़ा वॉटरफॉल है साथ ही अंग्रेज की जमाने में एक अंग्रेज जिसका नाम हुंदुर था जिसने हीरे की तलाश में इस नदी से खाई में गिर जाने की वजह से इस जगह का नाम जो है हुंदूर fail से हुंडरू फॉल हो गया

हुंडरू फॉल रांची से कितना दुरी पर है hundru falls distance from ranchi

रांची से इसकी दुरी 45 किलोमीटर है |

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top