Devaki Baba Dham Mandir Ghaghra || देवाकी धाम घाघरा |प्राचीन शिव मंदिर देवाकी घाघरा गुमला

गुमला जिले के घाघरा प्रखंड में घाघ नदी के किनारे में स्थित देवाकी बाबा धाम मंदिर घाघरा (Devaki Baba Dham Mandir Ghaghra) जो प्राचीन शिव जी के शिवलिंग के लिए प्रसिद्ध है, सावन मास के महीनों में  बाबा बैजनाथ धाम की तर्ज पर यंहा भी एक माह तक मेला लगया जाता है पुरे सावन भर हर सोमवार को शिव जी का दर्शन के लिए  भक्तों का बहुत अधिक भीड़ होती है जिले के जगह जगह से लोग यहाँ आकर पूजा अर्चना एवं शिव लिंग पर जल चढ़ाकर जाते हैं ,सन 1967-68 के बीच में यहाँ शिवलिंग का खोज हुआ था, जिसके फलस्वरूप ऊपर यहा Devaki Baba Dham Mandir Ghaghra || देवाकी धाम घाघरा भव्य मंदिर का निर्माण किया गया यह मंदिर प्राचीन शिव मंदिर देवाकी घाघरा गुमला के नाम से प्रसिद्ध है |

देवाकी बाबा धाम मंदिर घाघरा गुमला के बारे में जानते हैं ?

जिला मुख्यालय से कितनी दूर है देवाकी बाबा धाम?

जिला मुख्‍यालय से 30 किलोमीटर उत्तर पश्चिम में स्थित देवकी बाबा धाम का भव्य मंदिर है, जहां हर साल यहां मेला लगता है वहीं दूर-दूर से लोग भोले बाबा के दर्शन करने आते हैं

इसे भी पढ़े देवघर में  होगा शिव भक्तों का जमवाड़ा
कितने मंदिर हैं देवाकी धाम में

देवाकी बाबा धाम में एक मुख्य मंदिर भोलेनाथ जी का शिवलिंग का से सजा मेन मंदिर है जो राजकीय मुख्य घाघरा नेतरहाट मुख्य मार्ग से सटा हुआ ही है साथ ही बगल में माता पार्वती जी का भी मंदिर है, उसके साथ नदी के उस पार एक और शिवलिंग का मंदिर है जिसके रखवाली श्रीगणेश जी करते हैं, ऐसा इसलिए क्योकि मंदिर के बहार श्रीगणेश जी का पत्थर से बने दो मूर्ति नुमा मूर्ति हैं जो मंदिर के सामने हैं, साथ ही मुख्य मंदिर के निचे की और एक हनुमान जी का मंदिर भी है इस तरह से चार हैं

बरसात के आते ही सावन की तैयारी लोग जुट जाते हैं इस बार भी देवाकी बाबा धाम में भारी भड़कम भीड़ रहेगी,लोगों ने मेला से सजे दुकान,मिठाई की दुकान ,फुल की दुकान,एवं देसी होटल सभी दुकानदार अपने दुकान खोल तैयार बैठे हैं |

Devaki Baba Dham Mandir Ghaghra || प्राचीन शिव मंदिर देवाकी घाघरा गुमला

आप देवाकी धाम कैसे आ सकते हैं?

आप देवाकी धाम निम्नलिखित साधनों से आ सकते हैं

  • रेलमार्ग
  • हवाई जहाज
  • बस
  • व्यक्तिगत गाड़ी

यदि आप झारखंड के  बाहर से आ रहे हैं तो आपको सबसे पहले :-

  • रेलमार्ग से Jharkahnd की राजधानी रांची रेलवे Station में उतरना होगा उसके बाद वंहा से लोहरदगा के लिए लोकल ट्रेन पकड़ कर लोहरदगा आना होगा उसके बाद लोहरदगा रेलवे स्टेशन से बस या छोटी गाड़ी पकड़ कर सीधे आप देवाकी धाम आ सकते हैं |
  • हवाई मार्ग से आपको सबसे पहले रांची के बिरसा मुंडा एअरपोर्ट में उतरना होगा फिर वंहा से आपको ऑटो या छोटी बस पकड़ कर सीधे आप देवाकी आ सकते हैं |
  • बस से आने के कई रास्ते हैं जिनमे से आप आ सकते हैं राजधानी रांची के आई.टी.आई बस स्टेंड ,गुमला बस स्टेड ,लोहरदगा बस स्टेंड जैसे जगहों से आप सीधे देवाकी बाबा धाम के लिए आ सकते हैं |
  • व्यक्तिगत गाड़ी से आप झारखंड के कोई भी कोना से आ सकते हैं हैं यदि आपने रास्ता नही देखा है तो बस google कर लीजिये आपको सीधे देवाकी पहुचा देगा |

नेतरहाट भी है नजदीक में जहाँ आप जाकर धूम सकते हैं |

देवाकी  बाबा धाम से 53 किलोमीटर उतर पश्चिम में स्थित झारखंड की रानी नेतरहाट भी इसी रास्ते से होकर जाते है, आप चाहे तो यहां पर नेतरहाट घुमने का भी मजा ले सकते हैं, प्राकृतिक सौंदर्य परिपूर्ण और सूर्योदय और सूर्यास्त प्वाइंट जैसे अद्भुद नजारा का लुफ्त उठा सकते हैं

बैजनाथ धाम कौन से राज्य में स्थित है?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top